Saturday, 19 September 2009

प्रतिबिंब

होगा वही
जो
होना होगा .
अक्सर बुरा होगा .
फिर कुछ अच्छा होगा .

जो भी होगा
ज़रूर उसका
कोई
मतलब होगा .

अंधेरा होगा
तो
उम्मीद का
दीया जलेगा .
मेहनत का
सितारा चमकेगा .

उजाला होगा
तो
जीवन का
कोना - कोना
साफ़-साफ़ दिखेगा .

समय जैसा भी होगा ..
हमारी सोच का प्रतिबिंब होगा .

1 comment:

  1. समय जैसा भी होगा ..
    हमारी सोच का प्रतिबिंब होगा .
    सही कहा है समय हमेशा हमारी सोच का प्रतिबिम्ब ही होगा.
    बहुत सुन्दर रचना

    ReplyDelete

नमस्ते