Monday, 4 March 2013

प्रार्थना



भय ना हो कारण ,
तुम्हें याद करने का .

दुःख ना हो कारण ,
तुम्हें याद करने का .

याद तुम्हें करना ,
संबल हो जीवन का .

तुम्हें याद करना ,
संकल्प हो जीवन का .

याद तुम्हें करना ,
आधार हो जीवन का .

तुम्हें याद रखना ,
सार हो जीवन का .




2 comments:

  1. भावपूर्ण प्रार्थना | जय हो


    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    ReplyDelete

नमस्ते