Wednesday, 8 July 2009

दीक्षा

समय के
हर समीकरण से
दीक्षा ली है ,
ये जाना कि
जीने का पर्याय
सीखना ही है

1 comment:

नमस्ते